व्यक्ति के जीवन में हृदय रेखा का अपना है महत्व

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि यदि व्यक्ति के हाथ में हृदय रेखा क्लीयर हो और बिना कटे-फटे आगे बढ़े तो इसे बेहद शुभ माना जाता है। ऐसे लोग में आत्मविश्वासी होते हैं। साथ ही ये लोग जीवन में खूब सफलता पाते हैं। साथ ही ये लोग जीवन में खून नाम और शौहरत कमाते हैं।

हस्तरेखा विज्ञान में हृदय रेखा महत्वपूर्ण स्थान रखती है। इस रेखा से व्यक्ति के व्यवहार, स्वभाव के बारे में तो पता चलता ही है साथ ही यह आय़ु और आपके भाग्य फल को भी दर्शाता है। हस्तरेखा शास्त्र में कहा गया है कि हस्तरेखा कुछ खास बनावट को देखकर यह आसानी से जाना जा सकता है कि व्यक्ति बेहद भाग्यशाली हो सकता है पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि हाथ में छोटी उंगली (कनिष्ठा) के नीचे से जो रेखा स्टार्ट होती है और हथेली में नीचे की ओर जाती है उसे हृदय रेखा कहते हैं। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, व्यक्ति की हथेली में मौजूद रेखाएं और चिन्ह को पढ़कर भविष्य को जान सकते हैं। साथ ही उसके चरित्र या भविष्य के जीवन का मूल्यांकन भी कर सकते हैं। हथेली में मौजूद सभी प्रमुख रेखाओं में से एक है हृदय रेखा। यह रेखा सबसे छोटी उंगली के नीचे से निकलकर किसी भी क्षेत्र में जा सकती है और किसी भी रेखा से इसका संबंध हो सकता है। इस रेखा की समापन गुरु पर्वत अर्थात अंगूठे के पास वाली उंगली के नीचे होता है। अगर यह रेखा का संबंध सही रेखाओं से होता है तो व्यक्ति काफी भाग्यशाली माना जाता है।

खूब कमाते हैं नाम और पैसा

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि यदि व्यक्ति के हाथ में हृदय रेखा क्लीयर हो और बिना कटे-फटे आगे बढ़े तो इसे बेहद शुभ माना जाता है। ऐसे लोग में आत्मविश्वासी होते हैं। साथ ही ये लोग जीवन में खूब सफलता पाते हैं। साथ ही ये लोग जीवन में खून नाम और शौहरत कमाते हैं।

काफी गुणवान होते हैं 

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, हथेली में हृदय रेखा के सिरे पर गुरु पर्वत के पास त्रिशूल का चिन्ह बना हो तो ऐसे व्यक्ति काफी गुणवान होता है और उस पर हमेशा ईश्वर की कृपा बनी रहती है। वह मेहनत के दम पर उच्च स्थान प्राप्त करता है और कभी भी किसी परेशानी से डरता नहीं है।

काफी समझदार होते हैं 

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति के हाथ में हृदय रेखा बिना दोष के आगे बढ़ती रहती है तो यह काफी शुभ माना जाता है। ऐसे लोगों के अंदर आत्मविश्वास काफी होता है और अपनी सूझबूझ से कामयाबी के रास्ते पर चलते रहते हैं। इनको परिवार की तरफ से पूरा सपॉर्ट मिलता है और भविष्य हमेशा अच्छा होता है।

हमेशा कामयाब होते हैं 

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति की हथेली में हृदय रेखा बिना किसी दोष के सीधे शनि पर्वत तक पहुंच जाती है तो ऐसा व्यक्ति काफी ईमानदार होता है और धन कमाने के कई रास्ते खोज लेता है। ऐसे व्यक्ति बिना किसी की मदद के अपने लक्ष्य तक पहुंचने में कामयाब होते हैं। हालांकि ये थोड़े मतलबी भी होते हैं लेकिन काम को पूरी स्पष्टता से करते हैं।

इसे भी पढ़ें: छप्पर फाड़ कर बरसेगा पैसा, अगर अपनायेंगे नमक के ये टोटके

अनुशासन पसंद होते हैं 

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि अगर हृदय रेखा बुध पर्वत से निकलकर सीधे गुरु पर्वत कर पहुंच जाती है तो ऐसे व्यक्ति काफी अनुशासन का पालन करते हैं और अपनी सोच को लेकर हमेशा स्पष्ट रहते हैं। इन लोगों को काम में अनुशासन रहना काफी पसंद आता है और इनके अंदर चीजों का जानने की इच्छा काफी तीव्र रहती है।

लक्ष्य की ओर चलते हैं हमेशा

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति के हथेली में हृदय रेखा मस्तिष्क रेखा में आकर मिल जाए तो ऐसे व्यक्ति केवल अपने मन की सुनते हैं और सही रास्ते पर चलते हैं। ऐसे व्यक्ति को दूसरे क्या कहते हैं, इस पर कम ध्यान देते हैं और लक्ष्य की ओर चलते रहते हैं। मस्तिष्क रेखा में मिलने पर इन लोगों के काफी दोस्त होते हैं, जो हमेशा इनकी मदद के लिए तैयार रहते हैं।

होते हैं भाग्यवान

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि हस्तरेखा के मुताबिक अगर हृदय रेखा के साथ मस्तिष्क रेखा और जीवन रेखा पूरी तरह स्पष्ट और पूरी लंबाई में जा रही हो तो ऐसे व्यक्ति काफी भाग्यवान होते हैं और जीवन में इनको कभी किसी चीज की कमी नहीं होती। इन लोगों को धन व ऐश्वर्य के साथ-साथ पारिवारिक सुखों की भी प्राप्ति होती है।

इसे भी पढ़ें: हथेली की रेखाओं से जानें अमीर बनने का चांस है या नहीं

राजनीति क्षेत्र में बनाते हैं कॅरियर

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि यदि हृदय रेखा गुरु पर्वत तक जाए तो ऐसे लोग समय के बहुत पाबंद होते हैं। साथ ही ये लोग बातूनी और जिज्ञासु होते हैं। ये लोग शोध की फील्ड में अपना करियर सफल बनाते हैं। इनको जीवन में भाग्य का पूरा साथ मिलता है। सामुद्रिक शास्त्र अनुसार यदि हृदय रेखा के साथ मस्तिष्क रेखा और जीवन रेखा भी पूरी तरह से स्पष्ट हों तो ऐसा व्यक्ति किस्मत का धनी होता है। वो अपने जीवन में हर सुख-सुविधा, सम्मान पाता है। साथ ही ये लोग राज सत्ता को प्राप्त करते हैं और राजनीति में अच्छी सफलता प्राप्त करते हैं।

बनते हैं बड़े बिजनेसमैन

हस्तरेखा विशेषज्ञ डा. अनीष व्यास ने बताया कि हस्तरेखा शास्त्र अनुसार यदि हृदय रेखा शनि पर्वत तक जाए तो ऐसे लोग स्वाभिमानी और दूरदर्शी होते हैं। ये जीवन में जिस लक्ष्य को प्राप्त करना चाहते हैं उसे पाकर ही रहते हैं। ये लोग उसूलों के पक्के होते हैं। साथ ही ये लोग बड़ी बिजनेसमैन बनते हैं

– डा. अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *