24 नवंबर को बदलेगी गुरु की चाल, मीन राशि में मार्गी होंगे गुरु बृहस्पति

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि ज्योतिष शास्त्र में देवगुरु बृहस्पति का विशेष स्थान है। सभी ग्रहों में बृहस्पति को सबसे शुभ फल देने वाला ग्रह माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति ग्रह को मान सम्मान, विवाह, भाग्य, अध्यात्म, संतान का कारक माना गया है।

24 नवंबर को बृहस्पति मीन राशि में मार्गी हो रहा है। यानी अब सीधी चाल से चलने लगेगा। चाल में बदलाव होने से बृहस्पति का शुभ प्रभाव और बढ़ जाएगा। राशि परिवर्तन से देश में बड़े राजनीतिक बदलाव होने के योग बनेंगे। साथ ही पांच राशियों के लिए अच्छा समय शुरू हो जाएगा। ये ग्रह अगले साल 22 अप्रैल 2023 को अगली राशि यानी मेष राशि में चला जाएगा। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर-जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि देवगुरु बृहस्पति 24 नवंबर से मार्गी चाल चलेंगे। इस समय गुरु मीन राशि में उल्टी चाल यानी वक्री अवस्था में हैं। गुरु हर 13 महीने में लगभग 4 महीने के लिए वक्री हो जाते हैं। ज्योतिष मान्यताओं के अनुसार गुरु मार्गी होने से पहले कुछ राशियों पर विशेष कृपा करते हैं। गुरु के मार्गी होने से पहले कुछ राशियों को लाभ हो सकता है। देवगुरु बृहस्पति को ज्योतिष में विशेष स्थान प्राप्त है। देवगुरु बृहस्पति की कृपा से व्यक्ति का भाग्योदय होना तय है। देवगुरु बृहस्पति को गुरु को ज्ञान, शिक्षक, संतान, बड़े भाई, शिक्षा, धार्मिक कार्य, पवित्र स्थल, धन, दान, पुण्य और वृद्धि आदि का कारक ग्रह कहा जाता है। बृहस्पति ग्रह 27 नक्षत्रों में पुनर्वसु, विशाखा, और पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र के स्वामी होते हैं।

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि ज्योतिष शास्त्र में देवगुरु बृहस्पति का विशेष स्थान है। सभी ग्रहों में बृहस्पति को सबसे शुभ फल देने वाला ग्रह माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में बृहस्पति ग्रह को मान सम्मान, विवाह, भाग्य, अध्यात्म, संतान का कारक माना गया है। गुरु ग्रह को पुत्र, पत्नी, धन, शिक्षा और वैभव का कारक ग्रह भी माना जाता है। हर महीने  कोई न कोई ग्रह परिवर्तन करता ही है, ऐसे में ग्रहों के परिवर्तन का प्रभाव हर राशि पर देखने को मिलता है। ऐसे में जहां ग्रहों के इस परिवर्तन का कुछ राशियों पर शुभ तो वहीं कुछ पर अशुभ प्रभाव भी पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गुरु बृहस्पति 24 नवंबर को प्रातः  04:36 पर मार्गी होंगे। वैदिक ज्योतिष के अनुसार गुरु बृहस्पति सबसे लाभकारी ग्रह माने जाते हैं। गुरु ग्रह मीन राशि में मार्गी हो रहे हैं जो उनकी स्वराशि है। ऐसे में गुरु ग्रह जातकों को अच्छे परिणाम देंगे।

गुरु का मीन राशि में मार्गी होना और प्रभाव

भविष्यवक्ता डॉ अनीष व्यास ने बताया कि गुरु 24 नवंबर 2022 को सुबह 04:36 मिनट पर मीन राशि में मार्गी हो जाएंगे। ज्योतिष में गुरु ग्रह को धर्म, विवाह, मान-सम्मान और शुभता प्रदान करने वाला ग्रह माना जाता है। गुरु के स्वयं की राशि में मार्गी होना जातकों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने में, सभी तरह की मनोकामनाओं को पूर्ण करने में सहायक होंगे। जो लोग विवाह के योग्य है और कोई नया कार्य या नया व्यापार शुरू करने वाले उनके लिए गुरू का मार्गी होना किसी तरह के वरदान से कम नहीं होगा। इससे अलावा जो लोग नौकरी की खोज में पिछले कई दिनों से प्रयासरत हैं उन्हे सफलता मिलेगी। सेहत के लिहाज से भी गुरु का स्वयं की राशि में मार्गी होना अच्छा संकेत है। गुरु का मार्गी होना कुछ राशियों के लिए उनके भाग्य में बढ़ोत्तरी प्रदान करेगा।

इसे भी पढ़ें: घर के जरूरी सामान रखते समय वास्तु की दिशाओं पर भी दें ध्यान

मीन राशि में गुरु के मार्गी होने पर बनेगा विशेष योग

कुण्डली विश्ल़ेषक डॉ अनीष व्यास ने बताया कि 24 नवंबर को गुरु के स्वराशि मीन में मार्गी होने पर हंस पंच महापुरुष नाम का योग बनेगा। यह योग धन, व्यापार और करियर में वृद्धि का कारक होता है। वैदिक ज्योतिष गणना के मुताबिक हंस पंच महापुरुष योग से जातकों को कार्यों में सफलता और बुद्धि कौशल में तीव्र विकास दिलाता है। यह योग भाग्य में बढ़ोतरी और व्यवसाय में प्रगति के संकेत हैं।

उपाय

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डॉ अनीष व्यास ने बताया कि देवगुरु बृहस्पति को प्रसन्न करने के लिए प्रतिदिन ॐ भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र का एक माला जाप करें। साथ ही भगवान विष्णु को संभव हो तो पीले रंग के फल का भोग लगाकर प्रसाद के रूप में बांटें। देवगुरु को प्रसन्न करने के लिए बृहस्पतिवार के दिन दाल, हल्दी, पीले वस्त्र, बेसन के लड्डू  आदि किसी योग्य ब्राह्मण को दान करें और केले के वृक्ष पर जल चढ़ाएं। इसके लिए शिवलिंग पर चने की दाल और पीले फूल चढ़ाएं। बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। गुरु ग्रह के मंत्र ऊँ बृं बृहस्पतये नमः का जाप कम से कम 108 बार करना चाहिए। किसी गौशाला में हरी घास दान करें। प्रतिदिन भगवान श्री विष्णु की आराधना के बाद हल्दी और चंदन का तिलक करें।

इसे भी पढ़ें: घर में गणपति की प्रतिमा स्थापित करने से पहले जान लें यह नियम

भविष्यवक्ता एवं कुंडली विश्लेषक डॉ अनीष व्यास से जानते हैं कि गुरु के मार्गी होने का सभी राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि

धन आगमन होगा किंतु उसके अनुपात में खर्च की अधिकता रहेंगी। धार्मिक कार्यो एवं अध्यात्म में आपकी रुचि बढ़ेगी। समाज में मान सम्मान की वृद्धि होगी। दूर स्थान की यात्राएं हो सकती है।

वृषभ राशि

नौकरी व्यापार में धन लाभ के योग बन रहे हैं। आपके पराक्रम की वृद्धि होगी जो भी निर्णय आप लेंगे वह सही साबित होगा। पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा। जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा।

मिथुन राशि

भूमि, भवन वाहन आदि के सुखों में वृद्धि होने वाली है। स्वास्थ्य से जुड़ी सभी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी । बैंक बैलेंस में बढ़ोतरी होगी व पुराने ऋणों समाप्त होंगे ।

कर्क राशि

आर्थिक स्थिति बेहद मजबूत होगी। नौकरी व्यापार में अपूर्व सफलता दिलाने वाला रहेगा। अविवाहितों के विवाह पूर्ण होंगे। दंपतियों को संतान सुख प्राप्त होगा। भाग्य का भरपूर सहयोग प्राप्त होगा।

सिंह राशि

पेट से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। शेयर मार्केट, लॉटरी सट्टा से जुड़े लोगों आकस्मिक धन की हानि हो सकती है सावधान होकर पूंजी निवेश करें। धार्मिक कार्यो पर धन खर्च होगा।

कन्या राशि

समाज में मान सम्मान की बढ़ोतरी होगी। धनलाभ के अवसर प्राप्त होंगे । दाम्पत्य जीवन में मधुरता बढ़ेगी । अपने ज्ञान व बुद्धिमता से सभी कार्य सफलतापूर्वक पूर्ण करेंगे।

तुला राशि

कार्यक्षेत्र में बदलाव की स्थिति आ सकती है। काम व शिक्षा के सिलसिले में विदेश जा सकते हैं । स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखें। पेट से संबंधित रोग हो सकते हैं। मानसिक तनाव बढ़ सकता है। शत्रु प्रबल हो सकते हैं।

वृश्चिक राशि

भूमि भवन खरीदने का योग है। कार्यक्षेत्र में मान सम्मान व पदोन्नति हो सकती है। धन लाभ के अवसर प्राप्त होंगे शेयर मार्केट में लाभ के अवसर मिलेंगे। छात्रों के लिए यह समय शुभ है पढ़ाई लिखाई में रूचि बढ़ेगी।

धनु राशि

आर्थिक उन्नति के योग बन रहे हैं। आप मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। दूसरों के प्रति आपका व्यवहार प्रेमपूर्वक होने वाला है। अध्यात्म में रूचि बढ़ेगी। संतान की तरफ से मन प्रसन्न रहेगा।

मकर राशि

धन लाभ के एक से अधिक रास्ते खुलेंगे। किसी नए व्यापार की शुरुआत कर सकते हैं। पुराने रोगों से छुटकारा प्राप्त होगा। विदेश गमन के योग बन रहे हैं। कार्यक्षेत्र में स्थान परिवर्तन हो सकता है।

कुंभ राशि

कहीं फंसा हुआ पैसा वापस मिलेगा। अपनी वाणी की चतुराई व मिठास के कारण आपके विरोधी भी आपके मित्र बन जाएंगे। दाम्पत्य जीवन में मधुरता बढ़ेगी। प्रेम संबंधों के लिए समय अच्छा है।

मीन राशि

भाग्य आपका पूरा पूरा साथ देगा। समाज में मान सम्मान बढ़ेगा। नौकरी व्यापार के लिए यह समय अत्यंत श्रेष्ठ रहेगा। घर परिवार में खुशियों भरा माहौल रहेगा। दाम्पत्य जीवन में मधुरता बढ़ेगी आपसी मतभेद दूर होंगे।

– डा. अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *