Astrological Predictions: 2023 में किन चुनौतियों का सामना करेगी दुनिया? जानें क्या कह रहा ज्योतिष शास्त्र

रोहिताश्व त्रिवेदी ने कहा कि विश्व विजय पंचांग लगातार यह कहता आ रहा है कि सन 2020 से लेकर सन 2027 तक, इसी समय अवधि को तृतीय विश्वयुद्ध कहा जाएगा। इसकी शुरुआत जैविक महामारी से हुई। शत्रु राष्ट्र द्वारा अस्त्र भी उठा है।

कुछ दिनों में नए साल की शुरुआत होने वाली है। नया साल कैसा रहेगा, इस बात की भी उत्सुकता सभी के मन में रहती है। हमने प्रभासाक्षी के कार्यक्रम समय चक्र में यह जानने की कोशिश की कि जनवरी महीना राजनैतिक, भौगोलिक और आर्थिक दृष्टिकोण से देश और दुनिया के लिए कैसा रहने वाला है। इस कार्यक्रम में मौजूद रहे जाने-माने ज्योतिष शास्त्री रोहिताश्व त्रिवेदी।

रोहिताश्व त्रिवेदी ने कहा कि विश्व विजय पंचांग लगातार यह कहता आ रहा है कि सन 2020 से लेकर सन 2027 तक, इसी समय अवधि को तृतीय विश्वयुद्ध कहा जाएगा। इसकी शुरुआत जैविक महामारी से हुई। शत्रु राष्ट्र द्वारा अस्त्र भी उठा है। दिसंबर 2022 से अगस्त 2024, यह वह समय है जब इसका सबसे ज्यादा प्रभाव रहने वाला है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से निवेदन भी किया कि अगले 6 महीने में हम पूरी तरीके से राष्ट्र के लिए समर्पित रहे।

क्या किसी राज्य में राजनीतिक उठापटक की स्थिति देखने को मिलेगी?

उन्होंने कहा कि किसी सरकार या किसी राज्य में अस्थिरता जनवरी में नहीं आती दिख रही है। हां, यह जरूर हो सकता है कि राजनीतिक दल आत्म चिंतन करते दिखे। संगठन में भी बड़े बदलाव हो सकते हैं।

जनवरी में क्या कानून व्यवस्था की स्थिति किसी राज्य में चिंता का विषय होने वाली है?

उन्होंने कहा कि आने वाला 6 महीना थोड़ा खतरनाक है। सावधान रहने की आवश्यकता है। शांति और भाईचारा बनाकर रखें। उन्होंने कहा कि स्थिति तनावपूर्ण पूरे विश्व में होती जा रही है। इसलिए आपसी भाईचारे को बनाकर आगे बढ़ना है। उन्होंने अगले 6 महीने की कार्य अवधि में आतंकवादी घटनाओं को लेकर भी आशंका जाहिर की है।

कोरोना महामारी की स्थिति अगले महीने कैसे रहने वाली है?

यह समय काफी चुनौतीपूर्ण है। हमें अपनी मर्यादाओं में रहना है। सरकार ने जो भी गाइडलाइन जारी किए है, उसका पालन करना है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक हम बहुत पहले से कहते आ रहे हैं कि 2023-24 खराब है। इसलिए सतर्क रहने की आवश्यकता है। 2027 तक रोग, पीड़ा और रोग पीड़ा भय निरंतर बना रहेगा।

कांग्रेस के लिए जनवरी कैसा रहने वाला है?

उन्होंने कहा कि कांग्रेस उठती हुई दिखाई नहीं दे रही है। यह गिरती ही जाएगी। पार्टी के कई नेता दल बदल सकते हैं। इसके बाद नेशनल पॉलिटिक्स में कांग्रेस बहुत ज्यादा रेलीवेंट नजर नहीं आएगा।

कर्नाटक-महाराष्ट्र सीमा विवाद?

उन्होंने कहा कि आपकी बात न्यायपालिका कर करेगा। न्यायपालिका ही इस विवाद का उचित तरीके से निवारण करेगी। इसके कारण कोई समाज में बढ़ा तनाव दिखेगा, ऐसा नहीं है।

महंगाई से मिलेगी राहत?

रोहिताश्व त्रिवेदी ने इससे इनकार किया। 2023 में महंगाई से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। फिलहाल महंगाई को बढ़ता हुआ ही माने और इसी के अनुसार अपनी नीतियां बनाएं।

भारत और चीन के रिश्ते कैसे रहने वाले हैं?

उन्होंने कहा कि चीन ऐसी गुस्ताखियां लगातार करता रहेगा और हमें उसे उत्तर देना पड़ेगा। हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है।

पाकिस्तान के साथ कैसे रहेंगे रिश्ते?

आने वाले समय में पाकिस्तान रहने वाला नहीं है।

विश्व के दूसरे देशों में हिंसा और आतंकवाद की खबरें रहने वाली है?

पाकिस्तान आर्थिक संकट की ओर जा रहा है। विश्व के कुछ अन्य राष्ट्र के भी व्यवस्थाएं आने वाले साल में चिंता का विषय बनेंगी। बांग्लादेश के ऊपर हमें विशेष ध्यान देना होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *