Scorpio Horoscope 2023: वृश्चिक राशि वाले जातकों के लिए कैसा रहेगा साल 2023? यहाँ पढ़ें वार्षिक राशिफल

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस साल 2023 में आपको धन के मामले में मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। खासकर साल की शुरुआत में आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी। जनवरी से अप्रैल के बीच फालतू के खर्चे कर आप अपनी आर्थिक तंगी बढ़ा सकते हैं।

पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह वर्ष बहुत भाग्यशाली रहने वाला है। उन्हें हर क्षेत्र में सफलता मिलेगी। इस वर्ष शनि आपकी कुंडली के तृतीय और चतुर्थ भाव के स्वामी होकर चतुर्थ भाव में ही विराजमान होंगे। जिसके फलस्वरूप जातक को भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। जो व्यक्ति प्रॉपर्टी या गाड़ी खरीदना चाहते हैं, उनकी यह इच्छा इस वर्ष पूरी हो सकती है। जो व्यक्ति विदेश जाने की इच्छा रखते हैं, उनकी यह इच्छा इस वर्ष पूरी होगी। जो लोग स्थाई तौर पर विदेश में रहना चाहते हैं, उन्हें भी सफलता प्राप्त होगी। चतुर्थ भाव के शनि की पूर्ण दृष्टि आपकी कुंडली में दशम भाव यानी कार्यक्षेत्र पर होगी, जिस कारणवश आपको कारोबार में उन्नति देखने को मिलेगी। जीवन में स्थिरता देखने को मिलेगी। यह अवधि आपकी आमदनी में इतनी बढ़ोत्तरी देगी, कि इस वर्ष में आप जायदाद बनाने का प्रयास करेंगे और सफलता प्राप्त करेंगे। इस वर्ष आपके मान-सम्मान में वृद्धि देखने को मिलेगी तथा आप सराहना के पात्र बनेंगे। वर्ष की शुरुआत में छोटे भाई-बहनों के साथ थोड़ी खींचातानी रह सकती है, परंतु फरवरी से सब कुछ सामान्य हो जाएगा तथा आपको अपने भाई-बहनों का पूर्ण प्यार प्राप्त होगा। इस वर्ष राहु-केतु आपकी कुंडली के छठवें और बारहवें घर में गोचर करेंगे, जिसके परिणाम स्वरूप यह दोनों ग्रह उच्च का प्रभाव देंगे और अपनी नकारात्मकता त्याग देंगे, जिसके परिणाम स्वरूप आपको सभी ग्रहों के शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

कैरियर 

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि वर्ष के शुरुआत से ही महत्वपूर्ण निर्णय सोच-समझकर लेने की सलाह दी जाती है। कार्यक्षेत्र में कोई परिवर्तन करने से पहले विचार करना आवश्यक होगा। 17 जनवरी के बाद शनि की ढैया प्रारंभ हो रही है वैसे या परेशान करने वाली नहीं रहेगी फिर भी निर्णय सोच-समझकर लेने चाहिए। देवगुरु बृहस्पति पूरे वर्ष आपके लिए सहायक रहेंगे। पहले तो अप्रैल तक आपके पंचम भाव में और उसके बाद छठे भाव में देव गुरु बृहस्पति का गोचर व्यापारिक प्रतिस्पर्धा में आपको सफलता प्रदान करेगा। नौकरी पेशा जातकों  के लिए यह वर्ष उत्तम रहेगा। नई नौकरी मिल सकती है। उच्च अधिकारी का पूरा सहयोग मिलेगा। सहकर्मी आपका सहयोग करेंगे। जो लोग नई नौकरी की तलाश में है सफल होंगे। करियर को लेकर आपको थोड़ा सतर्क रहने की सलाह दी जाती है। इस साल आपको और मेहनत करने की जरूरत है। तभी आपको अपने प्रयासों में सफलता मिलेगी। यह समय आपके लिए भी फायदेमंद साबित होगा, जो आपको आपकी मेहनत के अनुसार फल देगा। अगर आप सरकारी क्षेत्र से जुड़े हैं तो आपको कुछ दिक्कतें हो सकती हैं।

आर्थिक स्थिति 

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस साल 2023 में आपको धन के मामले में मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। खासकर साल की शुरुआत में आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी। जनवरी से अप्रैल के बीच फालतू के खर्चे कर आप अपनी आर्थिक तंगी बढ़ा सकते हैं। बुध का चतुर्थ भाव में गोचर आपके आर्थिक जीवन में कुछ सकारात्मकता लाएगा। आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। आप विभिन्न माध्यमों से धन कमाने में भी सफल रहेंगे। यदि आपका पैसा कहीं फंसा हुआ है तो इस अवधि में वह आपको वापस मिल सकता है। जीवनसाथी की ओर से आपको आर्थिक लाभ होने के भी योग हैं। आर्थिक मामलों में या वर्ष बेहतर साबित होने वाला है पूर्व में किए गए निवेश का फायदा इस वर्ष आपको मिलेगा। अगर कोई प्रॉपर्टी या मकान खरीदने का सोच रहे हैं तो स्वराशि के शनि आपके लिए सहायक सिद्ध होंगे। इस साल अचल संपत्ति में वृद्धि के योग दिखाई देते हैं और आमदनी का स्तर भी बढ़ने के योग नजर आ रहे हैं किंतु कहीं पर भी नया निवेश सोच समझकर ही करें अन्यथा हानि हो सकती है।

परिवार 

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि वृश्चिक राशि के जातक पारिवारिक जीवन को लेकर बहुत ज्यादा संजीदा रहेंगे। वर्ष की शुरुआत में शनि महाराज कुंडली के तीसरे भाव में रहेंगे। इस दौरान माता-पिता की सेहत में उतार-चढ़ाव रहेगा। 17 जनवरी को शनि देव के चतुर्थ भाव में आने और वहां से दशम भाव को पूर्ण दृष्टि से देखने के कारण आपकी व्यस्तता भी बढ़ेगी। उसके कारण आप अपने परिवार पर भी ज्यादा ध्यान नहीं दे पाएंगे। इस वर्ष जुलाई से सितंबर के बीच परिवार के वरिष्ठ सदस्यों को स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं परेशान कर सकती हैं। विशेष रूप से आपके माता-पिता का स्वास्थ्य पीड़ित हो सकता है और उन से आपके संबंध भी बिगड़ सकते हैं, इसका पूरा ध्यान रखें। पारिवारिक दृष्टिकोण से वर्ष के शुरुआत से शनि का गोचर चौथे घर में होने से कुछ समस्याएं रहेंगी। माता का स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है उनका विशेष ध्यान रखें। संतान से संबंधित चिंताएं इस वर्ष दूर होंगी अगर उनकी उच्च शिक्षा के लिए प्रयासरत हैं तो उसमें आपको सफलता मिलेगी। कुछ जाने अनजाने शत्रु आपको परेशान करते रहेंगे अप्रैल के बाद इसमें भी राहत मिलेगी।

प्रेम-रोमांस 

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि वृश्चिक राशि के लोग प्रेम संबंधों में उतार चढ़ाव का सामना करेंगे। वर्ष की शुरुआत बेहद अनुकूल रहेगी क्योंकि पंचम भाव के स्वामी बृहस्पति महाराज पंचम भाव में विराजमान रहेंगे और शनि देव की तीसरे भाव से दृष्टि भी पंचम भाव पर रहेगी। आपका पंचम भाव सक्रिय होने से अगर आप अकेले हैं तो आपके जीवन में कोई व्यक्ति दस्तक दे सकता है। जिसके साथ आपका प्रेम परवान चढ़ेगा और यदि आप पहले से ही किसी प्रेम संबंध में हैं तो इस दौरान आपके प्रेम-संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। आप और आपके प्रियतम के बीच अच्छा सामंजस्य देखने को मिलेगा। फरवरी और मार्च के महीने में विशेष रुप से आपके रिश्ते में रोमांस का तड़का लगेगा और आपका प्यार और गहरा होगा। एक दूसरे के साथ अपनी बातें साझा करेंगे। विवाह के लिए राजीनामा भी हो सकता है। अप्रैल तक की परिस्थितियां अनुकूल रहेगी। उसके बाद जैसे ही बृहस्पति मेष राशि में गोचर करेंगे, धीरे-धीरे कुछ परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं। मई से अगस्त के बीच प्रेम संबंधों में ज्यादा तनाव देखने को मिल सकता है।

शिक्षा

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस वर्ष आपको शिक्षा के क्षेत्र में सामान्य परिणाम मिलेंगे। जनवरी से अप्रैल तक का समय आपके लिए थोड़ा बेहतर रहेगा। आपको विशेष ध्यान रखना होगा। क्योंकि यह समय आपके लिए प्रतिकूल रहेगा इसलिए आपको इस दौरान पहले से अधिक मेहनत करनी होगी अन्यथा आपको विपरीत परिणाम मिलने में परेशानी हो सकती है। यदि आप उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं तो समय आपके लिए थोड़ा तनावपूर्ण रहेगा। जैसे ही आप अपनी मेहनत जारी रखते हैं, अपने शिक्षकों की मदद लें। यदि आप प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं तो यह आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा। आप अच्छे अंक प्राप्त करेंगे और सफलता की सीढ़ी चढ़ेंगे। अगर किसी बड़े संस्थान में दाखिले का मन बना रहे हैं तो अप्रैल के पूर्व आपकी इच्छा पूरी हो सकती है। शनि की ढैया कुछ मानसिक रूप से एकाग्रता में कमी लाएगी किंतु देवगुरु बृहस्पति इस स्थिति को संभाले रहेंगे। आपको अपनी पढ़ाई में अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होगी और अनावश्यक कार्यों में समय कम बिताने की सलाह दी जाती है।

स्वास्थ्य

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस साल आपको स्वास्थ्य से जुड़े मिलेजुले परिणाम मिलेंगे। इस अवधि में शनि और गुरु की स्थिति में परिवर्तन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होगा। बृहस्पति के गोचर से आपको अपने पुराने गंभीर रोगों से मुक्ति मिलेगी। शनि के गोचर से आपके स्वास्थ्य में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेगा। अगर आप लंबे समय से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं तो इससे आपको निजात मिल सकती है। यह अवधि सेहत में सुधार के साथ ही आपको पेट से जुड़ी कई समस्याओं से भी निजात दिला सकती है। माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। माता की सेहत संबंधी परेशानी भी आपका मानसिक तनाव बढ़ा सकती है। साल के अंत में आप किसी शारीरिक चोट या दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं। इस वर्ष उदर रोग से संबंधित बीमारियां आपको परेशान कर सकती हैं इसलिए खान-पान में विशेष ध्यान रखना चाहिए साथ ही निरंतर योगा करते रहें जिससे कोई परेशानी बड़ा रूप ना लें।

ज्योतिष उपाय

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि शनिवार को सरसों के तेल का दीपक पीपल के पेड़ के नीचे में जलाएं। हनुमान चालीसा और संकट मोचन  का पाठ करें। चीटियों को आटा डालें।

– डा. अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *