Vrishabha Horoscope 2023: वृषभ राशि वाले जातकों के लिए कैसा रहेगा साल 2023? यहाँ पढ़ें वार्षिक राशिफल

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि वृषभ राशि के लिए कॅरियर के दृष्टिकोण से आने वाला वर्ष काफी अच्छा रहने की उम्मीद है क्योंकि इस वर्ष के शुरूआत में शनि आपकी राशि के दशम में रहने वाले हैं, जिसके चलते आपके कार्य मेहनत का पूरा फल मिलेगा।

पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि यह साल आय के मामले में काफी कुछ लेकर आने वाला है। बहुत से उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि इस वर्ष शनि आपकी कुंडली में भाग्य और कार्यक्षेत्र के स्वामी होकर दशम भाव में गोचर करेंगे। इस वजह से आपके कार्यक्षेत्र पर बहुत प्रभाव पड़ेगा, जो कि सकारात्मक रहने वाला है। आपके व्यापार में उन्नति देखने को मिलेगी। भाग्य का साथ मिलता रहा तो हर काम पूर्ण होगा। आपकी आमदनी तो बढ़ेगी, साथ ही साथ खर्च भी बढ़ेंगे। इस वर्ष में शनि भाग्य के मालिक होने की वजह से आपको बहुत सावधानियां रखनी पड़ेगी। यदि किसी कारणवश अपने अपने शनि को खराब किया तो आपका भाग्य खराब हो जाएगा और आपको बहुत सी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। इसी के साथ गुरु आपकी कुंडली के 11वें  और 12वीं  में भाव में गोचर करेंगे। 22 अप्रैल तक गुरु आप के ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे, जिसके फलस्वरूप आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी तथा आय के नए स्तोत्र मिलेंगे। आपके संबंध विदेशों से या विदेशी कंपनियों से स्थापित हो सकते हैं। जिससे आपको आश्चर्यजनक फायदे देखने को मिलेंगे। इस समय में आपको स्वास्थ्य का भी खासतौर पर ध्यान रखना होगा। चिकित्सालय में धन खर्च होता देखा जा रहा है। वर्ष के अंत में अक्टूबर माह में राहु और केतु अपना राशि परिवर्तन करेंगे। जिसके फलस्वरूप अचानक हो रहे खर्चे रुक जाएंगे तथा अचानक धन लाभ की स्थिति बनेगी। स्वास्थ्य में सुधार होगा।

कैरियर

ज्योतिषाचार्य डा. अनीष व्यास ने बताया कि वृषभ राशि के लिए कॅरियर के दृष्टिकोण से आने वाला वर्ष काफी अच्छा रहने की उम्मीद है क्योंकि इस वर्ष के शुरूआत में शनि आपकी राशि के दशम में रहने वाले हैं, जिसके चलते आपके कार्य मेहनत का पूरा फल मिलेगा, यह वर्ष वृषभ राशि के जातकों के लिए एक अच्छा वर्ष होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि बृहस्पति अप्रैल तक आपके ग्यारहवें भाव में रहेंगे जिसके फलस्वरूप आप अपने कार्यस्थल में बहुत लाभ कमा सकते हैं। इसके अलावा यदि आप व्यवसाय के क्षेत्र से संबंधित हैं तो भी आप बेहतर लाभ कमाएंगे। वर्ष के पहले भाग में आपके तृतीय भाव पर गुरु की दृष्टि होने के कारण पराक्रम का पूरा लाभ मिलने की प्रबल संभव बनती नजर आ रही है। आपकी मेहनत रंग लाएगी इस दौरान करियर में आपको कोई बड़ी उपलब्धि हासिल हो सकती है, अप्रैल के बाद बृहस्पति और राहु का संयुक्त गोचर विदेश से कोई लाभ मिलने का संकेत करता है, व्यावसायिक दृष्टिकोण से या वर्ष काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है। शनि भगवान इस वर्ष कार्य और व्यापार में आपके लिए काफी मददगार साबित होने वाले इस व्यावसायिक दृष्टिकोण से व्यापारियों के लिए अच्छा रहने वाला है।

आर्थिक स्थिति 

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस वर्ष इच्छाओं की पूर्ति अपने चरम पर होगी, जिसमें धन संबंधी इच्छाएं भी शामिल हैं। आप इस वर्ष कई निवेश अवसरों का लाभ उठा सकते हैं, जो आने वाले वर्षों में आपके वित्तीय स्थिति को बेहतर बनाएगा। हालांकि, आप इस बात का ध्यान रखें कि त्वरित लाभ के लिए निवेश न करें। इससे आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। साल के अंत तक आपको आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इस तरह की स्थिति के लिए पहले से ही तैयार रहें। बेहतर होगा कि शुरू से ही बचत करें। संकट काल में आपकी बचत की गई राशि आपके काफी काम आएगी। शनि लाभ भाव में अपनी मूलत्रिकोण राशि में आपको धन आगमन की नयी संभावनाएं बनाएंगे, लेकिन व्यापारी वर्ग इस समय बड़े निवेश से बचें कोई नया बिजनेस शुरू करना ठीक नहीं रहेगा लेकिन अप्रैल मध्य से आर्थिक स्थिति में सुधार के योग हैं, इस दौरान बृहस्पति के शुभ प्रभाव से आपको कुछ राहत जरूर मिलेगी और अचानक से आपको विदेश से धन लाभ की स्थिति बनेगी।

परिवार 

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि पारिवारिक जीवन को लेकर सुखद समाचार प्राप्त होंगे। वर्ष की शुरुआत में आपका रुझान अपने परिवार पर रहेगा। इस समय में आप परिवार की खुशियों का पूरा ध्यान रखेंगे। भले ही आप स्वयं कुछ मानसिक दबाव में रहेंगे लेकिन परिवार में खुशी बनाए रखने की पूरी कोशिश करेंगे। अप्रैल से अगस्त के बीच पारिवारिक जीवन में तनाव बढ़ेगा और किसी प्रियजन की स्वास्थ्य समस्याएं आपकी चिंता को बढ़ा सकती हैं। सितंबर से नवंबर के बीच पारिवारिक जीवन में खुशी का माहौल रहेगा। घर का माहौल भी धार्मिक रहेगा और परिवार में शुभ कार्य संपन्न होंगे। दिसंबर का महीना सामान्य रहेगा। इस दौरान लोगों के आवागमन से घर में उत्साह का माहौल बना रहेगा।  शनि आपके नवम और दशम भाव के स्वामी होकर दशम भाव में ही विराजमान होंगे, क्योंकि दशम भाव शनिदेव का अपना भाव है तथा यहां पर शनिदेव अच्छे परिणाम ही देते हैं, इसलिए आपके पिता के साथ आपके संबंधों में अत्यधिक मधुरता आएगी तथा आपको आपके पिता का पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। यह अवधि पिता के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी रहेगी। जो जातक अपने पिता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहते हैं,उन्हें अब निश्चिंत होने की जरूरत है क्योंकि अब उनके पिता के स्वास्थ्य में सुधार आने का समय आ चुका है। इस वर्ष आपको पैतृक संपत्ति भी प्राप्त हो सकती है।

प्रेम-रोमांस

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि वर्ष 2023 में वृषभ राशि के लोग प्रेम संबंधों में अनुकूलता महसूस करेंगे। विशेष रूप से जनवरी से अप्रैल तक आपका रिश्ता बहुत मजबूत रहेगा। एक दूसरे पर अच्छा विश्वास भी रहेगा और आप एक दूसरे के साथ विवाह के बंधन में भी बन सकते हैं और घर में शहनाईयां गूंज सकती हैं। अविवाहित लोगों को भी इस दौरान विवाह की सौगात मिल सकती है। अक्टूबर का महीना आपके रिश्ते में विशेष रूप से रोमांस बढ़ाने वाला साबित होगा लेकिन दिसंबर के महीने में थोड़ी सी सतर्कता रखें। इस दौरान कम्युनिकेशन गड़बड़ होने से एक दूसरे से विरोधाभास हो सकता है और रिश्ते में तनाव बढ़ सकता है। हालांकि यह पूरा वर्ष आपको आपके रिश्ते के लिए काफी हद तक अच्छा अनुभव कराएगा और आपकी अपने प्रियतम से नजदीकियां बनी रहेगी। 26 अक्टूबर से दिसंबर 30 दिसंबर तक का समय आपके रिश्तों के लिए तो शुभ रहेगा, परंतु संभावना रहेगी कि आप अपने प्रेमी के स्वास्थ्य को लेकर थोड़े चिंतित रह सकते हैं। इस समय में जिन लोगों के विवाह होने हैं, उन्हें केवल एक बात का ध्यान रख कर चलना होगा कि अपने प्रेमी से किसी भी बात पर बहस ना करें, अन्यथा आप में मनमुटाव की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। और कई बार यह मनमुटाव इतने बढ़ सकते हैं, कि आपका संबंध टूट भी सकता है।

शिक्षा

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा.अनीष व्यास ने बताया कि इस वर्ष वृषभ राशि के विद्यार्थियों के लिए वर्ष की पहली तिमाही बहुत अच्छी रहेगी। आपकी अध्ययन में रुचि बनी रहेगी और परिणामस्वरूप आपको परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त होंगे और आपकी पढ़ाई सही दिशा में आगे रहेगी। प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में लगे विद्यार्थियों का सपना कुछ विलंब के साथ पूरा होने के योग बनेंगे। ऐसी संभावना भी है कि नवंबर का महीना विशेष रूप से आपको सफलता दिला सकता है। उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों को अपनी मेहनत का उचित प्रतिफल प्राप्त होगा और पसंदीदा विषयों को पढ़ने का मौका मिलेगा। विदेश जाकर पढ़ने का सपना देख रहे विद्यार्थियों की मुराद इस वर्ष अवश्य पूरी हो सकती है। अप्रैल से जून के बीच उनके देश जाने के योग विशेष रूप से बनेंगे। वर्ष की शुरुआत से शनि की सातवीं दृष्टि आपके पंचम भाव पर रहेगी, इस समय आप अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें अप्रैल के पश्चात देवगुरू बृहस्पति का गोचर आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा किसी विदेशी संस्थान में दाखिला मिल सकता है उच्च शिक्षा लेने के लिए सोच रहे हैं तो आपका यह सपना इस वर्ष जरूर पूरा हो जाएगा।

स्वास्थ्य

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा. अनीष व्यास ने बताया कि इस साल आपको सेहत से जुड़े मिले-जुले परिणाम मिलेंगे। इस अवधि के दौरान शनि और बृहस्पति की स्थिति का परिवर्तन आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। बृहस्पति का गोचर आपको अपनी पुरानी गंभीर बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करेगा। शनि के गोचर से आपके स्वास्थ्य में सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेगा। अगर आप लंबे समय से चल रही किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो आप इससे निजात पा सकते हैं। सेहत में सुधार के अलावा यह अवधि आपको पेट से जुड़ी कई समस्याओं से भी निजात दिला सकती है। माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है। माता की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी आपका मानसिक तनाव बढ़ा सकती हैं। साल के अंत में आप किसी शारीरिक चोट या दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं। आपको अपनी त्वचा और आंखों का विशेष ध्यान रखना होगा। इस दौरान आप अपने स्क्रीन टाइम में कटौती करें। डायबिटीज के मरीजों को अपना औसत से ज्यादा ख्याल रखना होगा। आपको अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करना आप पर भारी पड़ सकता है। आप हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं। नियमित सैर करें और स्वस्थ आहार का सेवन करें।

ज्योतिष उपाय

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक डा.अनीष व्यास ने बताया कि 9 वर्ष से छोटी कन्याओं को भोजन कराए और उनके चरण छूकर प्रतिदिन उनका आशीर्वाद लें। शुक्रवार के दिन सफेद मिठाई का दान करें। शनिवार के दिन चीटियों को आटा डालें और गौ-माता की सेवा करें।

– डा. अनीष व्यास

भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *